WI vs IND : भारत ने वेस्ट इंडीज को 7 विकेट से हराया।
Type Here to Get Search Results !

WI vs IND : भारत ने वेस्ट इंडीज को 7 विकेट से हराया।

WI vs IND : भारत ने वेस्ट इंडीज को 7 विकेट से हराया।


WI vs IND : भारत ने वेस्ट इंडीज को 7 विकेट से हराया।

 पहली पारी के दौरान कुलदीप यादव ने एक ही ओवर में किंग और पूरन दोनों का विकेट लेकर गेम को पूरी तरह से घुमा दिया और वहां से टीम इंडिया की तरफ से कड़क वापसी हुई। डेथ ओवर्स में मुकेश कुमार ने सटीक गेंदबाजी की जिसके लिए उन्हें रखा गया। तो कुल मिलाकर आज टीम इंडिया की तरफ से जो प्लान बनाया गया था उसको अमल करते हुए खेला और जीत का स्वाद चखा। अब इस सीरीज का चौथा और पांचवां मुकाबला फ्लोरिडा में होना है जहाँ ये तय होगा कि ट्रॉफी किसके हाथ लगेगी। पहला दो मुकाबला काफी नजदीकी मामला रहा था लेकिन इस तीसरे गेम में टीम इंडिया ने 7 विकटों की एकतरफा और एक बड़ी जीत हासिल की है| जितनी तारीफ यहाँ पर सूर्यकुमार यादव की होगी उतनी ही तारीफ युवा तिलक वर्मा (49) की भी करनी चाहिए। बैक टू बैक अर्धशतक भले ही न जड़ पाए लेकिन टीम में अपने चयन को बिलकुल सही साबित कर दिया है। वहीं गेंदबाजी में कुलदीप यादव की After ने भी टीम इंडिया के गेंदबाजी खैमे को काफी राहत दी होगी। ब्रैंडन किंग को कुलदीप यादव ने आउट किया । एक ही ओवर में दो विकेट निकालने में कामयाब हो गए कुलदीप यादव यहाँ पर  ब्रैंडन किंग 42 रन बनाकर पवेलियन लौटे  ऑफ स्टंप के काफी बाहर डाली गई छोटी लेंथ की स्पिन गेंद पर बल्लेबाज़ ने बैक फुट से सामने की ओर हवा में शॉट लगाया| कुलदीप यादव ने गेंद पर नज़रें जाई रखीं और अपने दोनों हाथों से कैच करते हुए अपने टी20 करियर का 50वां विकेट हासिल कर लिया। ब्रैंडन किंग को कुलदीप यादव ने डॉट बॉल दी। एलबीडबल्यू की अपील थी लेकिन अम्पायर ने उसे नकार दिया। ये गेंद सीधा लेग स्टम्प को मिस कर रही थी ऐसा साफ़ देखने में पता चल गया। इस वजह से भारत ने रिव्यु लेने का भी नहीं सोचा। रूम बनाकर शॉट खेलना चाहा और और पैड्स पर खा बैठे थे गेंद।ब्रैंडन किंग को कुलदीप यादव, इस बार फ्रंट फुट पर आकर गेंद को सॉलिड तरीके से डिफेंड किया। रन का मौका नहीं बन सका । निकोलस पूरन को कुलदीप यादव ने स्टंप आउट कर दिया । जिस विकेट की भारत को तलाश थी वो कुलदीप यादव ने दिला दिया है। निकोलस पूरन 20 रन बनाकर पवेलियन लौटे। गुड लेंथ पर डाली गई स्पिन गेंद पर बल्लेबाज़ ने आगे आकर बड़ा शॉट लगाने का प्रयास किया। गेंद की गति से चकमा खा गए। कुलदीप ने जैसे ही पूरन को आगे आते देखा तो अपनी गति को कम कर दिया और बल्लेबाज़ को छकाया| इसी बीच बल्ले और पैड्स के बीच से होती हुई गेंद कीपर की ओर गई जहाँ से संजू सैमसन ने गेंद को पकड़कर स्टंप्स पर लगाया। बल्लेबाज़ निराश होकर पवेलियन की ओर चलते बने।

लगातार तीसरी टी20 हार से बची टीम इंडिया यहाँ पर और एक बुरे सपने को साकार होने से रोक दिया। अब यहाँ से दबाव मेज़बान टीम पर निश्चित रूप से आया होगा क्योंकि वो जानते हैं कि जब ये टीम वापसी करती है तो किस अंदाज़ में आक्रमण करती दिखती है। निकोलस पूरन आज अपनी टीम के लिए नहीं चले लेकिन एक अहम मुकाबले में चला स्काई का बल्ला और रन चेज़ में 83 रनों की पारी ने टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में ख़ुशी की लहर दौड़ा दी। टीम इंडिया ने किया पलटवार, अब मेजबानों में मच सकता है हाहाकार!! करो या मरो मुकाबले में चला स्काई का बल्ला और टीम इंडिया ने मचाया हल्ला शानदार वापसी इस सीरीज में मेहमान टीम द्वारा देखने को मिली है। पहले गेंदबाजी से सामने वाली टीम को बड़े स्कोर तक जाने से रोका और फिर बेहतरीन और समझ बूझ भरी बल्लेबाज़ी के दम पर इस मुकाबले को अपने नाम किया। स्काई और तिलक के बीच हुई 87 रनों की साझेदारी ने इस गेम में पूरी तरह से टीम इंडिया को ड्राइविंग सीट पर ला खड़ा किया|

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad